Wednesday, September 15, 2021

वृद्धि विकास और आधुनिकीकरण शब्दों में अंतर स्पष्ट कीजिए

 

वृद्धि विकास और आधुनिकीकरण शब्दों में अंतर स्पष्ट कीजिए

आधुनिकता शब्द आमतौर पर उत्तर-पारम्परिक, उत्तर-मध्ययुगीन ऐतिहासिक अवधि को सन्दर्भित करता है, जो सामन्तवाद (भू-वितरणवाद) से पूंजीवाद, औद्योगीकरण धर्मनिरपेक्षवाद, युक्तिकरण, राष्ट्र-राज्य और उसकी घटक संस्थाओं तथा निगरानी के प्रकारों की ओर कदम बढ़ाने से चिह्नित होता है वृद्धि विकास और आधुनिकीकरण शब्दों में अंतर स्पष्ट कीजिए (बार्कर 2005, 444). अवधारणा के आधार पर, आधुनिकता का सम्बन्ध आधुनिक युग और आधुनिकता से है, लेकिन यह एक विशिष्ट अवधारणा का निर्माण करती है। जबकि इन्लाईटेनमेण्ट, पश्चिमी दर्शन में एक विशिष्ट आन्दोलन की ओर इशारा करता है, आधुनिकता केवल पूँजीवाद के उदय के साथ सम्बन्धित सामाजिक जुड़ाव को सन्दर्भित करती है। आधुनिकता, बौद्धिक संस्कृति की प्रवृत्तियों को भी सन्दर्भित कर सकती है, विशेष रूप से उन आन्दोलनों को जो पन्थनिरपेक्षीकरण और उत्तर-औद्योगिक जीवन के साथ जुड़े हुए हैं, वृद्धि विकास और आधुनिकीकरण शब्दों में अंतर स्पष्ट कीजिए जैसे कि मार्क्सवाद, अस्तित्ववाद और सामाजिक विज्ञान की औपचारिक स्थापना. इस सन्दर्भ में, आधुनिकता को 1436-1789 के सांस्कृतिक और बौद्धिक आन्दोलनों के साथ जोड़ा गया है जिसका विस्तार 1970 के दशक तक या उसके बाद तक हुआ है (तौल्मिन 1992, 3-5)

यह बहुत ही सही कहा गया हैं कि "आधुनिकीकरण पुरानी प्रक्रिया के लिए चालू शब्द है। यह सामाजिक परिवर्तन की वह प्रक्रिया हैं, जिससे कम विकसित समाज विकसित समाजों की सामान्य विशेषेताओं को प्राप्त करते हैं।"

आधुनिकीकरण सामाजिक परिवर्तन की एक प्रक्रिया है जो वैज्ञानिक दृष्टिकोण तर्क पर आधारित है। सैद्धांतिक तौर पर इसकी शुरुआत यूरोपीय ज्ञानोदय से हुई। वृद्धि विकास और आधुनिकीकरण शब्दों में अंतर स्पष्ट कीजिए आईजनस्टेड के अनुसार ऐतिहासिक रूप से आधुनिकीकरण परिवर्तन की एक ऐसी प्रक्रिया है जो पश्चिमी यूरोप जैसी सामाजिक, आर्थिक तथा राजनीतिक व्यवस्था की ओर उन्मुख है।

यहाँ यह स्पष्ट करना आवश्यक होगा कि आधुनिकीकरण और पश्चिमीकरण अलग-अलग प्रक्रियाएं है। पश्चिमीकरण मे पश्चिमी प्रतिमान जैसे प्रौद्योगिकी, जीवन शैली, विचार, मूल्य इत्यादि के अनुकरण की प्रवृत्ति विकसित होती है। वृद्धि विकास और आधुनिकीकरण शब्दों में अंतर स्पष्ट कीजिए जबकि आधुनिकीकरण मे पश्चिम के विकसित देशों के अनुरूप सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक विकास की प्रक्रिया के अनुरूप परिवर्तन को समझा जाता है।

अलातास के अनुसारआधुनिकीकरण एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके आधुनिक वैज्ञानिक ज्ञान का समाज मे प्रचार एवं प्रसार होता है। जिससे समाज मे व्यक्तियों के स्तर मे सुधार होता है और समाज अच्छाई की तरफ बढ़ता है।

श्मामाचरण दुबे के अनुसारआधुनिकीकरण एक प्रक्रिया है जो परंपरागत या अर्द्धनपरंरागत अवस्था से प्रौधोगिकी के किन्ही इच्छित प्रारूपों तथा उनसे जुड़ी हुई सामाजिक संरचना के स्वरूपो, मूल्यों, प्रेरणाओं और सामाजिक आर्दश नियमों की ओर से होने वाले परिवर्तन को स्पष्ट करती है। 

डेनियल लर्नर के अनुसार; आधुनिकीकरण परिवर्तन की एक प्रक्रिया है जिसका संबंध मुख्य रूप से विचारों एवं मनोवृत्तियों के तरीको मे बदलाव, नगरीकरण मे वृध्दि, साक्षारता का बढ़ना, प्रति व्यक्ति आय का अधिक होना तथा राजनीतिक सहभागिता मे वृध्दि जैसे परिवर्तन से होता है। 

सी..ब्लैक के अनुसार; आधुनिकीकरण वह प्रक्रिया है जिससे ऐतिहासिक रूप से उत्पन्न संस्थाएँ तेजी से बदलती हुई नई जिम्मेदारियों के साथ अनुकूलित होती हैं जिसमें वैज्ञानिक प्रगति से जुड़ी अपने परिवेश पर नियंत्रण की क्षमता वाले मनुष्य के ज्ञान मे अभूतपूर्व वृद्धि परिलक्षित होती हैं।

आधुनिकीकरण की निम्न विशेषताएं है-

1.  राजनीतिक एवं सामाजिक आंदोलन 

आधुनिकीकरण के परिणामस्वरूप नवीन सामाजिक, राजनीतिक एवं आर्थिक प्रतिमान स्थापित किये जाते है। इन नवीन प्रतिमानों की स्थापना के लिए विभिन्न प्रकार के सामाजिक, राजनीतिक आंदोलन किये जाते है। इसलिए आधुनिक तथा आधुनिकता की ओर उन्मुख समाजों मे ऐसे आंदोलनों का प्रभुत्व रहता है। वृद्धि विकास और आधुनिकीकरण शब्दों में अंतर स्पष्ट कीजिए सामाजिक क्षेत्र में रूढ़ियों, परम्पराओं एवं प्रचलित कुप्रथाओं को समाप्त करने के लिए आंदोलन किये जाते है। 

2. शिक्षा में व्यापकता 

आधुनिकीकरण की प्रक्रिया प्रबल होने के साथ-साथ शिक्षा का प्रचार एवं प्रसार होता है। आधुनिकता का एक लक्षण शिक्षित होना भी है। आधुनिक कहलाने वाले समाज एवं राष्ट्र अपने समाज के प्रत्येक व्यक्ति को शिक्षित बनाना चाहते है।

3. नगरीकरण 

आधुनिकीकरण के लक्षणों मे नगरीकरण भी प्रमुख है। आधुनिकीकरण की प्रक्रिया के प्रबल होने के साथ-साथ नगरों की संख्या मे वृद्धि होती है। नगरों के आकार एवं जटिलता मे भी वृद्धि होती है। आधुनिकीकरण के परिणामस्वरूप नगरीकरण होता है। नगरीकरण के परिणामस्वरूप भी आधुनिकीकरण की प्रक्रिया तीव्र होती है। ये दोनों अन्योन्याश्रित है। 

4. संरचनात्मक विभेदीकरण तथा परिवर्तन 

आधुनिकीकरण के परिणामस्वरूप संबंधित समाज मे संरचनात्मक विभेदीकरण तथा निरन्तर परिवर्तन भी दृष्टिगोचर होता है। इस स्थिति मे पूर्व विद्यमान आर्थिक एवं सामाजिक संगठन अपना स्थान खोकर क्रमशः विघटित होने लगते है। वृद्धि विकास और आधुनिकीकरण शब्दों में अंतर स्पष्ट कीजिए उनके स्थान पर कुछ नये संगठन गठित होने लगते है। इसमें संरचनात्मक परिवर्तन होता है।

5. सामााजिक गतिशीलता 

सामााजिक गतिशीलता की प्रक्रिया के अंतर्गत सम्बन्धित समाज अथवा व्यक्ति परम्परागत रूप से प्रचलित सामाजिक, आर्थिक और मनोवैज्ञानिक तत्वों को त्यागकर उनके स्थान पर व्यवहार के नये प्रतिमानों को अपनाते हैं।

Next Question

For PDF And HandWritten

Whatsapp 8130208920

0 comments: