Saturday, September 11, 2021

भारत में ऑनलाइन शिक्षा का महत्व

 

भारत में ऑनलाइन शिक्षा का महत्व

शिक्षा जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है | शिक्षा एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ है सीखना या सिखाना होता है| शिक्षा हम किसी भी माध्यम के द्वारा ग्रहण कर सकते है | शिक्षा मनुष्य को बौद्धिक रूप से तैयार करती है | वैसे ही आज के आधुनिक युग में शिक्षा प्राप्त करने का एक सरल तरीका है ऑनलाइन शिक्षा | आधुनिक समय में ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली एक वरदान की तरह है। भारत में ऑनलाइन शिक्षा का महत्वजिसने किसी कारण वश शिक्षा ग्रहण नहीं की वो ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली से नए आयाम हसिल कर सकता है | यह निबंध लिखने का महत्वपूर्ण विषय है | आइए देखते है ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली क्या है ? ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध

जैसे कि हम पारंपरिक रूप से गुरुकुल या कक्षा में जाते हैं और उनके शिक्षक के सामने बैठकर उनका ज्ञान प्राप्त करते हैं। लेकिन ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली में इसे शिक्षा का नवीनतम रूप माना जाता है, हम अपने शिक्षक से इंटरनेट से मिलते हैं और लैपटॉप या सेलफोन के माध्यम से उनसे मिलते हैं और अपना ज्ञान प्राप्त करते हैं। भारत में ऑनलाइन शिक्षा का महत्व

वर्ष 1993 से ऑनलाइन शिक्षा को वैध शिक्षा माध्यम के रूप में भी स्वीकार किया गया हैं. जिन्हें प्रयुक्त भाषा में दूरस्थ शिक्षा कहा जाता हैं. इसमें निर्धारित पाठ्यक्रम को VS/डीवीडी और इन्टरनेट के माध्यम से शिक्षा दी जाती हैं| भारत में ऑनलाइन शिक्षा का महत्व बड़ी बड़ी सेवाओं जैसे सिविल सर्विस, इंजीनियरिंग और मेडिकल, कानून आदि की शिक्षा भी आज कई संस्थान ऑनलाइन उपलब्ध करवा रहे हैं.

भारत सरकार द्वारा छात्रों , शिक्षकों और अभिभावकों के मनोवैज्ञानिक सपोर्ट ,मानसिक स्वास्थ्य और भावनात्मक सहायता के लिए मनोदर्पण योजना की शुरुआत की जाएगी | साथ ही स्वंय प्रभा डीटीएच के जरिए बच्चों को पहले से शिक्षा दी जा रही थी। इसमें 12 और चैनल जोड़े जाएंगे जिसमे लाइव सेशन का  टेलिकास्ट  स्काईप के जरिए किया जाएगा, प्रतिदिन 6 घंटे की पाठ्यक्रम सामग्री होगी और तीन रिपीट टेलीकास्ट के साथ सप्ताह के सभी दिनों में 24 x7 करने की व्यव्य्स्था है ।इसके अंतर्गत ग्रामीण इलाकों भी छात्रों के द्वारा लाभ उठाने की व्यव्य्स्था है टाटा स्काई और एयरटेल टीवी से भी समझौता किया गया है   दिव्यांग बच्चों के लिए स्पेशल  ‘डिजिटली ऐक्सेसिबल इन्फॉर्मेशन सिस्टम’ (DAISY) के तहत कंटेंट प्रोग्राम लाया जाएगा, जिसके अंतर्गत दिव्यांग छात्रों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए कोर्सों की शुरूआत की जाएगी। मौजूदा शिक्षा व्यवस्था को पहले से ही ऑनलाइन की ओर ले जाने की सरकार की मुहिम चल रही थी, जिसने कोरोना संकट ने अब और तेज गति दी है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय  इसे लेकर पढ़े भारत ऑनलाइन जैसी  मुहिम शुरु की है। जिसमें कई कोर्स को भविष्य में भी ऑनलाइन पढ़ाने की तैयारी है। यूजीसी ने इसके लिए पूरा प्लान जारी कर दिया है, जिसके तहत विश्वविद्यालयों को अब कोर्स का 25 फीसद हिस्सा ऑनलाइन ही पढ़ाना अनिवार्य होगा

ऑनलाइन शिक्षा को बढ़ावा देने के साथ ही सरकार का ध्यान इस पर भी है की  शिक्षकों को इसके लिए तैयार करा जाए यही वजह है भारत में ऑनलाइन शिक्षा का महत्वकि स्कूलों में पढ़ाने वाले सभी शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षण देने की तैयारी है। फिलहाल इसके लिए राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) और एनसीईआरटी को पूरा प्लान तैयार करने का कार्यभार  सौंपा गया है।

बदलते परिवेश में टेक्नोलॉजी में भी कई बदलाब हुए है और इसके उपयोग भी बड़े है। टेक्नोलॉजी के वजह से शिक्षा लेने की पद्दति में भी बहुत से परिवर्तन देखने को मिले हैं आज ऑनलाइन शिक्षा में उपयोग होने वाली शिक्षण सम्बंधित सामग्री, टेक्नोलॉजी के माध्यम से एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजी जा सकती है। भारत में ऑनलाइन शिक्षा का महत्वऑनलाइन शिक्षा से समय बचता है।साथ ही, छात्र शिक्षा को अपने घर में आराम से ले सकते हैं। भारत में ऑनलाइन शिक्षा का महत्व भारत में ऑनलाइन शिक्षा का महत्व बच्चे लगातार अपने शिक्षकों को ऑनलाइन कक्षा से पढ़ने के नए तरीकों को सिखाते हैं और पढ़ने में भी रूचि रखते हैं यही नहीं ऑनलाइन शिक्षा में ट्यूशन या बड़े -बड़े कोचिंग सेंटर का खर्च भी बचता है उदाहरण के लिए राजस्थान सरकार ने स्माइल प्रोजेक्ट के तहत स्कूली बच्चों को व्हाट्सएप्प के जरिये रोजाना स्टडी मेटेरियल विडियो ऑडियो आदि पहुचाएं जाते हैं. इस नई पहल से शिक्षा व्यवस्था बाधित होने की बजाय अधिक आसान हुई हैं. बदलते अध्ययन वातावरण ने मनोरंजन को ओर भी  रोमांचित बनाता  है। भारत में ऑनलाइन शिक्षा का महत्व थकान और अच्छी दैनिक लागत बचत ऑनलाइन शिक्षा के समय से बचाया जाता है।ऑनलाइन शिक्षा में, आप कक्षाओं से डरते नहीं हैं कि और आप सावधानी से  शिक्षक के साथ नोट्स लेते हैं। ऑनलाइन शिक्षा में आप अपने वीडियो को फिर से देख सकते हैं  इस प्रकार आप याद नोट्स बनाने का डर नहीं है।

Previous Question         

0 comments: