Saturday, July 3, 2021

Mastery Book Summary in Hindi

Mastery Book Summary in Hindi , Mastery Book Summary , Mastery Book - तो आज हम इस बुक की summary को पड़ेंगे सिर्फ एक Skill में Expert होना आपको सफल बना सकता है हेलो दोस्तों तो आज हम स्वागत करते करते हैं आपका एक बार फिर से हमारे एक वेबसाइट तो आज हम इस बुक की summary को पड़ेंगे सिर्फ एक Skill में Expert होना आपको सफल बना सकता है हेलो दोस्तों तो आज हम स्वागत करते करते हैं आपका एक बार फिर से हमारे एक वेबसाइट तो आज हम इस बुक की summary को पड़ेंगे सिर्फ एक Skill में Expert होना आपको सफल बना सकता है हेलो दोस्तों तो आज हम स्वागत करते करते हैं आपका एक बार फिर से हमारे एक वेबसाइट में जहां हम आपको हमेशा कोई न कोई बुक के संग रेप प्रोवाइड करते हैं और आप उनको बहुत ही अच्छे से इंजॉय करते हैं और उससे अपना आत्मविश्वास आत्मबल और अपने दिमाग का संतुलन को बरकरार रखते हैं तो यहां पर आपको काफी सारा आपके खुद के कोर से रिलेटेड और आपकी लाइफ से रिलेटेड बुक्स की सा मरीज देखने को मिलती है भाई आज ही नेक और समरी पढ़ते हैं जो कहीं ना कहीं आप की लाइफ के incident को change कर सकती हैं और जब आपके जिंदगी आपके जीवन का कोई भाग बदल जाता है या यह कह सकते हैं कि वह भाग जो बुरा होने वाला है Mastery Book Summary in Hindi वह अच्छा हो जाता है तो आपकी जिंदगी में बहुत ज्यादा चीजें अच्छी हो जाती हैं और जब जिंदगी में चीजें अच्छी होती है तो आपकी जिंदगी भी अच्छी हो जाती है

 

Mastery Book Summary in Hindi 

Mastery Book Summary in Hindi दोस्तों इस किताब में 6 chapters हैं |  हम एक-एक करके आपको सभी chapters के बारे में बहुत ही अच्छे से विस्तार में बताएंगे  और इस बुक में हम जानेंगे कि कैसे हम Talent, Good Luck और ग्रहों की दशा जैसी बातों को पीछे छोड़ कर कठिन से कठिन skill  को सीख सकते हैं और उसमें mastery हासिल कर सकते हैं| इस किताब को Robert Greene ने इस किताब में कुछ ऐसे practical rules बताए हैं जिनकी मदद से  कोई भी व्यक्ति किसी भी क्षेत्र में  सफल  हो सकता है और mastery के स्तर तक पहुंच सकता है। तो इस बुक समरी में मैं आपको जो भी चीजें बताऊंगी वह सभी आपको अपने दिमाग में स्मरण रखी हैं और जब अपने दिमाग में इस चीज का स्मरण रखेंगे तो आप और भी काफी अच्छी अच्छी मोटिवेशनल चीजें याद रखेंगे

1) Discover your calling – The Life’s task

दोस्तों हम सब में एक  आंतरिक शक्ति होती है जो सभी जीवित चीजों को बड़ा करती है और उनमें  बदलाव  लाती है | Mastery Book Summary in Hindi, चलिए बात करते हैं Leonardo da Vinci की जो 15 वीं शताब्दी के बहुत बड़े आविष्कारक और artist थे | Leonardo बहुत सारे कामों में जीनियस थे और वह यह मानते थे कि हम सब में एक आंतरिक power होती है जो इस ब्रह्मांड को चलाती है और हमें जीनियस बना सकती है | Leonardo को बचपन में ज्यादा पढ़ाई करने का मौका नहीं मिला लेकिन उन्होंने  प्रकृति को बहुत अच्छे तरीके से observe किया | प्रकृति की खूबसूरती और जीवन की शक्ति को देख कर उन्हें अच्छा लगता था और वह   प्रकृति की इस खूबसूरत शक्ति को  बहुत अच्छे से समझना चाहते थे | वह पहाड़ों पर या नदी के किनारे पर बैठकर प्रकृति की  तस्वीरें बनाते थे |

दोस्तों best बनने के लिए सबसे पहले हमें यह पता होना चाहिए कि हमारे लक्ष्य क्या है जब व्यक्ति के मन में उसके लक्ष्य  स्पष्ट होते हैं तो वह उन्हें पाने के लिए उस दिशा में  काम करता है और अपना सारा ध्यान और ऊर्जा अपने target पर लगाता है |

वह सभी लोग जो अपने कार्यक्षेत्र में जीनियस और सफल होते हैं उन सभी में कुछ  गुण सामान्य होती है | उनमें से सबसे  पहला गुण हैं कुछ नया सीखने की चाहत और अपने काम के प्रति लगन | जीनियस लोग हमेशा जानते हैं कि उन्हें क्या करना है और वह हमेशा अपने काम के प्रति  समर्पित होते हैं | Sir Issac Newton कहते थे कि वह Gravity के बारे में हर रोज़ सोचते थे और उस पर काम करते थे इसलिए वह gravity के नियम की खोज करने में सफल हुए | अल्बर्ट आइंस्टाइन कहते थे कि उनकी  सफलता के पीछे उनकी कुछ नया करने की चाहतकड़ी मेहनत और काम के लिए उनकी लगन थी |

 

Steps for finding your calling

Mastery Book Summary in Hindi  लेखक रॉबर्ट ग्रीन ने हमें  अपने जीवन का  उद्देश्य ढूंढने के लिए कुछ तरीके बताए हैं |

  • Return to your origins: बहुत से successfull लोगों का झुकाव उसी काम की तरफ होता है जिसे वह बचपन से ही करना चाहते थे आपको यह सोचना होगा कि जब आप छोटे थे तो आपको किस काम का शौक था |
  • Occupy the perfect niche: बहुत से सफल लोगों ने अपने  लक्ष्य तय करने से पहले अपने बचपन में झांक कर देखा कि बचपन में उन्हें किस काम में दिलचस्पी थी | आपको भी ऐसा ही करना होगा यानी आपको देखना होगा कि बचपन में आप की सबसे अधिक दिलचस्पी किस काम में थी।
  • Avoid the false path: कुछ लोग धन और शोहरत को देखकर गलत कामों की तरफ  आकर्षित हो जाते हैं | कुछ लोग अपने माता-पिता के दबाव में गलत profession को अपना लेते हैं | अगर आप जीवन में सफल होना चाहते हैं तो आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप किसी भी काम को केवल उससे मिलने वाली दौलत और शोहरत को देख कर ना अपनाएं और ना ही अपने माता-पिता के कहने पर किसी गलत profession में जाएं |
  • Let go of the past: अगर आपने अपने  अतीत में कुछ गलत कामों का चुनाव किया है तो आप उन्हें छोड़ सकते हैं | हमें उन decisions को बदल देना चाहिए और उन कामों को छोड़ देना चाहिए जिन्हें हमने गलती से चुना है क्योंकि गलत काम करते हुए हम कभी सफल नहीं हो सकते |
  • Find your way back: जब आप सही काम का चुनाव करके उसमें मेहनत करेंगे तो कई बार आपका ध्यान  गलत रास्तों की ओर भटकेगा | ऐसा अक्सर उस समय होता है जब किसी व्यक्ति को अपने काम में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है | तब वह सोचता है कि इस काम को छोड़कर कोई और काम किया जाए | अगर आप गलती से भी गलत रास्ते पर भटक जाए तो आपको सही रास्ते पर और सही काम में वापस आ जाना चाहिए क्योंकि सही काम करने से ही आपको सफलता मिलेगी |

2) Submit to Reality: The Ideal Apprenticeship

Mastery Book Summary in Hindi  स्कूल और कॉलेज में हम जो शिक्षा लेते हैं वह किताबी शिक्षा होती है जिससे हमें सर्टिफिकेट और  डिग्री मिलती है | स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई खत्म होने के बाद समय आता है प्रैक्टिकल शिक्षा ग्रहण करने का जिसे  ट्रेनिंग भी कहा जाता है जो की सफलता के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण कदम होता है | हर बार जब आप अपना करियर बदलते तो आप इस चरण में नए सिरे से दाखिल होते हैं नए  कार्यक्षेत्र में जाने के बहुत से खतरे होते हैं  क्योंकि नए  कार्यक्षेत्र में आपको सब कुछ शुरू से करना होता है और शुरू से सीखना होता है | अब सवाल यह उठता है कि सही काम का चुनाव कैसे किया जाए इस सवाल का जवाब बहुत आसान है , आपको केवल उसी काम की ट्रेनिंग को चुनना है जिसमें आपको सबसे अधिक सीखने को मिले और जिस काम की मार्केट में अच्छी मांग हो |

The three steps of the apprenticeship phase

Step one: Deep observation — the passive mode 

ज्यादातर लोग अपनी ट्रेनिंग की शुरुआत में यह सोचते हैं कि अपने काम में सफल होने के लिए उन्हें लोगों का ध्यान आकर्षित करना होगा, उन्हें प्रभावित करना होगा और खुद को लोगों के सामने साबित करना होगा  जो कि एक गलत धारणा है | Mastery Book Summary in Hindi  गलत धारणाएं लोगों को सच्चाई से दूर रखती हैं और उनकी  सफलता में रुकावट  बन जाती हैं | आपको हमेशा यह देखना चाहिए कि आपके कार्यक्षेत्र में कौन से व्यक्ति सबसे अधिक सफल हैं और उनसे  सफलता की  तकनीकें और नियम सीखने चाहिए |

Step two: Skill acquisition — the practice mode

दोस्तों किसी भी ट्रेनिंग में सबसे जरूरी और ध्यान रखने वाली बात यह है कि आप एक समय पर केवल एक ही skill को सीखें | आप किसी भी कीमत पर एक से ज्यादा skills को सीखने की गलती ना करें क्योंकि ऐसा करने से आप किसी भी skill को कुशलता से नहीं सीख पाएंगे |

दूसरी बात, जब भी आप ट्रेनिंग में कुछ नया सीखने की कोशिश करेंगे तो आपको उसमें मुश्किल जरूर आएगी | कई बार आपको नई चीजें सीखनी मुश्किल लगेंगी और कई बार आपको बहुत बोरियत महसूस होगी | ज्यादातर लोग ऐसे समय में सफल होने के short way ढूंढते हैं और continue practice के महत्व को भूल जाते हैं आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आप अपनी skills को पूरी लगन से सीखें और शॉर्टकट की ओर भटकने से बचें |

Step three: Experimentation — the active mode

Mastery Book Summary in Hindi जब आप ट्रेनिंग में नई skills सीखते हैं  तो उसके बाद समय आता है उन skills को apply करने का |

Strategies for Completing the Ideal Apprenticeship

Value learning over money: मशहूर वैज्ञानिक आइंस्टाइन अपने विचारों पर काम करने के लिए खास तौर पर अलग से समय निकालते थे वह जो भी सोचते थे उस पर काम जरूर करते थे | इसलिए हमें शुरुआत में पैसा कमाने के पीछे नहीं भागना चाहिए और ट्रेनिंग के दौरान सीखी हुई skills को अमल में लाना चाहिए |

Keep expanding your horizons: हमें नए-नए लोगों से मिलना चाहिए और उनके positive विचारों को सीखना चाहिए ऐसा करने से हमारी knowledge बढ़ेगी और हमें वह सब सीखने को मिलेगा जो हम अकेले रहकर नहीं सीख सकते |

Trust the process: किसी भी काम में कुशलता हासिल करने के लिए समय लगता है | आपको किसी भी काम की शुरुआत में ही  सफलता नहीं मिलतीसफलता पाने के लिए आपको लगातार कोशिश करनी पड़ती है और अपने skill को विकसित करना पड़ता है लगातार कोशिश करने और सीखने से ही  कुशलता आती है और आपको  सफलता मिलती है |

Move toward resistance and pain: अक्सर लोग जब किसी भी skill को अच्छी तरह से सीख लेते हैं तो उसी पर काम करते रहते हैं क्योंकि उस पर काम करना उन्हें आसान लगता है | ऐसा करने की बजाय हमें नई skills को सीखना चाहिए और नई चुनौतियों को  स्वीकार करना चाहिए | ऐसा करने से हम नए-नए काम करना सीख लेते हैं और हमारा काम करने का दायरा भी बढ़ता है |

Apprentice yourself in failure: जब किसी मशीन में कोई खराबी आ जाती है तो आपको यह पता होता है कि उसके कौन से हिस्से में खराबी है और उसे कैसे ठीक करना है | ठीक इसी तरह जब हम किसी काम में fail होते हैं तो हमें यह पता चल जाता है कि हमें अपनी कौन सी skills पर काम करने की और उसे बेहतर बनाने की जरूरत है |

Combine the “how” and the “what”: हमें किसी भी skill को पूरी तरह से सीखना चाहिए और उसे बीच में अधूरा नहीं छोड़ना चाहिए | अधूरी skills सीखने से ना तो आप में कुशलता आएगी और ना ही आप उस काम को ठीक से कर पाएंगे जिसके लिए आप उस skill को सीख रहे हैं | इसलिए आप जो भी सीखे उसे पूरी तरह से सीखे और सीखने के बाद उस पर काम जरूर करें |

Advance through trial and error: आपको हमेशा अपने करियर के शुरुआती दौर में अलग-अलग skills सीखनी चाहिए और अलग-अलग क्षेत्र में काम करना चाहिए | आपको 20 से 25 साल की उम्र के बीच में  अलग-अलग क्षेत्र में काम करना चाहिए और उसमें से जो काम आपको अपने लिए सबसे अच्छा लगे उसे हमेशा के लिए अपना लेना चाहिए हमें शुरू में केवल एक कार्यक्षेत्र में रहने की गलती नहीं करनी चाहिए क्योंकि इस आधुनिक युग में जो व्यक्ति केवल एक कार्यक्षेत्र में रहता है वह अक्सर 40 साल की उम्र तक अपने काम से बोर हो जाता है | शुरुआती दौर में अलग-अलग  क्षेत्र में काम करने से और अलग-अलग काम सीखने से आपके पास हमेशा काम करने के नए मौके मौजूद रहते हैं |

3) Absorb the Master’s Power: The Mentor Dynamic

गुरु और शिष्य का रिश्ता कुछ भी सीखने के लिए सबसे अच्छा रिश्ता होता है | अच्छे गुरु अपने शिष्यों का ध्यान उनके लक्ष्य पर  करवाते कराते हैं और उन्हें चुनौती देते हैं | वह केवल  अपना ज्ञान ही नहीं, अपना  अनुभव भी अपने शिष्यों को देते हैं | Mastery Book Summary in Hindi आपका काम है सही गुरु का चुनाव करना जिसके पास आपके काम से संबंधित ज्ञान और  अनुभव हो ऐसे गुरु का चुनाव करें जो आपको अपने जीवन का  लक्ष्य हासिल करने में मदद कर सके | दूसरी ओर अगर आपके सर्कल में अच्छे शिक्षक नहीं है तो किताबें आपके लिए सबसे अच्छे शिक्षक साबित हो सकती हैं इसलिए हमें हमेशा किताबे पढ़नी चाहिए और उनसे सीखते रहना चाहिए |

Strategies for Deepening the Mentor Dynamic

Choose a mentor according to your needs and inclination: 

हमें अपनी ज़रूरतों के अनुसार अपने शिक्षक का चुनाव करना चाहिए | सही शिक्षक आपको सहारा देगा, आप में  आत्मविश्वास जगाएगा, और आपको सही दिशा दिखाएगा | आपको ऐसा शिक्षक ढूंढना होगा जो आपको वह सब दे सके जो आप पहले से ही पाना चाहते थे |

Gaze deep into the mentor’s mirror : 

शिक्षक आपको बताएगा कि आप अपने जीवन के कौन से हिस्सों में कमजोर हैं वह आपको आपकी ग़लतियाँ बताएगा इसलिए उसके द्वारा की जाने वाली आलोचना को  स्वीकार करने के लिए तैयार रहें | शिक्षक द्वारा  आलोचना करने से आपको अपनी गलतियों को सुधारने का मौका मिलेगा और  आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा।

Create a back and forth dynamic:
कई बार आपको यह समझ में नहीं आएगा कि आप क्या सीखना चाहते हैं इसे समझने के लिए आपको एक बार पीछे जाकर दोबारा से सोचना होगा कि आप अपने शिक्षक से क्या सीखना चाहते हैं | आप जो भी सीखना चाहते हैं वह आपको अपने शिक्षक को बताना होगा ताकि वह आपको आपकी ज़रूरतों के अनुसार आपको सभी skills सिखा सकेजिनकी आपके कार्यक्षेत्र में जरूरत पड़ेगी |

4) See People as they Are: Social Intelligence

Mastery Book Summary in Hindi दोस्तों लेखक रॉबर्ट ग्रीन कहते हैं कि हमें दो तरह की knowledge होनी चाहिए पहला मनुष्यों की specific knowledge जो आपको बताएगा कि वह दुनिया को किस तरह से देखते हैं और दूसरा General knowledge  जिससे आपको लोगों के  व्यवहार के बारे में जानकारी मिलेगी और आपको उनकी positive और negative   भावनाओं का पता चलेगा |

Specific Knowledge — Reading People

दोस्तों आपको लोगों को वैसे ही समझना होगा जैसे वह असल में होते हैं | आपको लोगों पर ध्यान देना सीखना होगा जिससे आपको यह पता चल जाए कि वह असल में कैसे हैं आप को उनके शब्दों पर ध्यान देने की बजाय उनकी आवाज की टोनउनकी नजरें और उनकी body language पर ध्यान देना होगा | आप लोगों से ऐसे बात करें जिससे वह भावनाओं में बह जाए क्योंकि emotional होकर वह आपको अपने बारे में ज्यादा बताएंगे | किसी भी व्यक्ति का असली  स्वभाव तभी पता चलता है जब वह गहरी भावनाओं में डूब जाता है जैसे कि तनाव में होना या बहुत  उत्साहित होना Mastery Book Summary in Hindi , अगर आप ध्यान से देखेंगे तो जब  कोई व्यक्ति बहुत अधिक  तनाव में होता है या बहुत खुश और  उत्साहित होता है तो उसका असली  स्वभाव आपके सामने उजागर हो जाता है कुछ लोगों का असली  स्वभाव  तब पता चलता है जब वह बहुत गुस्से में होते हैं ऐसा करने से आप लोगों के बारे में अच्छी तरह से जान पाएंगे और उनके साथ वैसे ही व्यवहार करेंगे |

General Knowledge — The 7 Deadly Realities

Envy: दूसरों से  तुलना करना हम सभी मनुष्यों के  स्वभाव में होता है | हम अपने धन की तुलनाबुद्धि की तुलनासफलता की तुलना, और अपनी हैसियत की तुलना भी दूसरों से करते हैं | दूसरों को सफल होते देख कर लोगों के मन में जलन की भावना उत्पन्न होती है जो हमारी सफलता में बहुत बड़ी रुकावट का काम करती है इसलिए हमें लोगों के साथ अपनी तुलना नहीं करनी चाहिए और जलन की भावना से बचना चाहिए |

Conformism: जब लोग  समाज में किसी भी तरह के ग्रुप बनाते हैं तो उनके अंदर एक तरह की असुरक्षा उत्पन्न होती है | लोग एक दूसरे को यह दिखाने की कोशिश करते हैं कि वह उनके और दूसरे लोगों के बीच के अंतर  का आदर करते हैं लेकिन वास्तव में जो स्पष्ट रूप से अलग हैं वे असहज और  महसूस करते हैं |

Rigidity: दुनिया कई तरीकों से जटिल हो गई है, और जब भी हमें ऐसी  जटिल परिस्थिति का सामना करना पड़ता है, तो हम अपनी आदतें और routine ऐसी बनाने की कोशिश करते हैं जिससे हमें ऐसा लगे की  परिस्थिति हमारे नियंत्रण में है। सबसे अच्छी strategy होती है कि हम दूसरों की कठोरता को स्वीकार करें और उनके विचारों का सम्मानकरें।

Self-obsessiveness: काम के वातावरण में, हम लगभग खुद को सबसे अधिक महत्व देते हैं और अपने बारे में सबसे पहले सोचते हैं। आमतौर पर, लोगों के साथ बातचीत के दौरान उनके साथ उसी बारे में बात करें जिनमें उनकी दिलचस्पी है | ऐसा करने से वह आप में दिलचस्पी लेंगे और जरूरत पड़ने पर आपकी मदद भी करेंगे |

Laziness: दोस्तों हम सब अपने लक्ष्य को जल्दी से जल्दी पाने के लिए सबसे तेज और सबसे आसान रास्ता लेना चाहते हैं, लेकिन हम आम तौर पर हमारी उत्सुकता को  नियंत्रित करते हैं; हम कड़ी मेहनत से जो कुछ हासिल करना चाहते हैं,   उसके महत्व को समझते हैं। आमतौर पर, उन लोगों से सावधान रहें जो साथ मिलकर काम करना चाहते हैं- वे अक्सर ऐसे किसी व्यक्ति को ढ़ूँढ़ने की कोशिश करते हैं जो उनके लिए सारा मुश्किल काम कर सके, जिसका वह फायदा उठा सकें |

Flightiness: हम सोचते हैं कि हमारे ज्यादातर फैसले rational  या तार्किक होते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि हम अपने भावनाओं में बहकर हर काम करते हैं, और उन्हीं  भावनाओं से प्रभावित होकर हम अपने  विश्वास बनाते हैं। कहने का मतलब यह है कि  हमारी भावनाएं हमारी rationality से ज्यादा  ताकतवर होती हैं और हमारे काम पर  भावनाओं का ज्यादा प्रभाव पड़ता है इसलिए हमें अपने भावनाओं पर  नियंत्रण रखना चाहिए |

Passive Aggression: किसी भी प्रकार की passive aggression या शांत गुस्से का मूल कारण डर है | इसलिए हमें अपने मन में किसी भी प्रकार का डर नहीं रखना चाहिए |

Strategies for Acquiring Social Intelligence – 

Speak through your work: अगर आप किसी ग्रुप में काम कर रहे हैं और आपको लगता है कि आप पर political  दबाव है तो भी आपको चिंता नहीं करनी चाहिए | Mastery Book Summary in Hindi , Mastery Book Summary आपका ध्यान केवल अपने काम पर होना चाहिए और जब आप अपने काम को कुशलता से करेंगे तो उन लोगों में आप अलग दिखाई देंगे, जो बोलते ज्यादा हैं और काम कम करते हैं |

See yourself as others see you: लगभग हम सभी में किसी न किसी प्रकार की कमियां होती हैं, कुछ कमियां हानिरहित होती हैं लेकिन कुछ ऐसी होती हैं जो हमें मुसीबत में डाल सकती हैं। कई बार ऐसा होता है कि हम बहुत ज्यादा बोलते हैं, या लोगों की आलोचना के प्रति बहुत ईमानदार होते हैं, या बहुत आसानी से गलती कर बैठते हैं । आप खुद के साथ ईमानदार रहें और देखें कि आपके अंदर कौन-कौन सी कमियां  हैं, और उन्हें सुधारने की कोशिश करें जब आप खुद को लोगों की नज़रों से देखेंगे तो आपको आपकी कमियां  पता चल जाएंगी और थोड़ी सी कोशिश करने से आप उन्हें सुधार लेंगे |

Suffer fools gladly: हम सब अपने जीवन में कभी ना कभी मूर्खता का व्यवहार करते हैं, ऐसे मौकों पर हम अपना आपा खो बैठते हैं | यह लगभग हर व्यक्ति का स्वभाव होता है | अपने अंदर की मूर्खता को देखने से आप दूसरों की मूर्खता को भी  स्वीकार कर पाएंगे | ऐसा करने से आप दूसरों की मूर्खता पर मुस्कुराएंगे और उन्हें बदलने की कोशिश नहीं करेंगे |

5) Awaken the Dimensional Mind: The Creative-Active

आप जैसे-जैसे अपने काम के बारे में सीखते हैं और अपने कार्यक्षेत्रके नियमों को अच्छी तरह से जानते हैं वैसे-वैसे आपका दिमाग पहले से ज्यादा  सक्रिय हो जाता है और आप इस  ज्ञान को अपनी ज़रूरतों और इच्छाओं के अनुसार उपयोग करने की कोशिश करते हैं | आपका  लक्ष्य अपने “Subconcious Mind” को  सक्रिय करना है, ताकि आप अपने skill  को बेहतर कर सकें और आगे बढ़ते रहें और नई-नई चीजें सीखते रहें।

Step One: The Creative Task

आप जिस काम को भी करने के लिए चुनते हैंआपके अंदर उसे करने का उत्साह होना चाहिए | यह आप पर  निर्भर करता है कि आप अपनी  ऊर्जा कहां पर  केंद्रित करते हैं | जिस काम  पर आप अपना सारा ध्यान और  ऊर्जा केंद्रित करेंगे वह आपके लिए आसान हो जाएगा |

Step Two: Creative Strategies

Cultivate Negative Capability – 

अपने काम के दौरान आपको बहुत सारे  समस्याओं और अनिश्चितताओं का सामना करना पड़ता है | इसलिए उन्हें सहने और निपटने करने के लिए उन्हें अच्छी तरह से जाने ताकि समय आने पर आप उनके लिए पहले से ही तैयार रहे |

Allow for Serendipity: अपनी सामान्य दिलचस्पी और अपने comfort zone से बाहर निकले | अपने  मन में नए विचारों को विकसित करें और जल्दबाजी में किसी भी बात का परिणाम निकालने की गलती ना करें | हर समय अपने साथ एक नोटबुक रखें और उसमें नए विचारों को लिखें |

Alter Your Perspective:

किसी भी विषय या  समस्या को अलग-अलग नजरिए से देखने की कोशिश करें | किसी भी  समस्या के बारे में देखें कि उसमें क्या अजीब है, उसमें क्या है और क्या नहीं है अलग-अलग नजरिए से देखने पर आपको किसी भी  समस्या के बारे में ज्यादा जानकारी मिलेगी और आप उसके बेहतर  हल ढूंढ पाएंगे |

Revert to Primal Intelligence: भाषा से परे सोचने की कोशिश करें | जिन चीजों को शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता उनको visual languange, model या   चित्रों के जरिए  समझाने की कोशिश करें |

Step Three: The Creative Breakthrough — Tension and Insight

जब आप किसी भी काम को करते हैं तो एक समय ऐसा होता है जब  तनाव अपने ऊंचे स्तर पर पहुंच जाता है | ऐसे समय पर आपको काम से ब्रेक लेना चाहिए और थोड़ा आराम करना चाहिए फिर आप उसे छोड़कर थोड़ी देर के लिए कोई और काम भी कर सकते हैं तनाव की  परिस्थिति में ब्रेक लेने से आपको किसी भी  समस्या  का  हल ढूंढने और काम को पूरा करने का रास्ता मिल जाता है |

Mastery Book Summary कई बार हम सोचते हैं कि हमारे काम को पूरा करने के लिए हमारे पास बहुत अधिक  समय है, यह भावना हमारे दिमाग पर एक गहरा प्रभाव डालती है। हमारा ध्यान बंट जाता है और विचार फैल जाते हैं। काम में हमारी intensity कम हो जाती है और  काम करने की गति में भी कमी आ जाती है | जिसके कारण दिमाग का अपने ऊंचे स्तर पर सोचना मुश्किल हो जाता है।

0 comments: